Chirag Ki Kalam ( चिराग की कलम )

जिंदगी का नशा ही काफी है ……

Arjun Tendulkar U19 Debut | अर्जुन से तेंडुलकर तक का सफर अभी बाकी है

मैं उस वक्त 12  साल का था और मुझे आज भी याद है। वो मेरी जिंदगी का पहला क्रिकेट वर्ल्ड-कप था। 1996 मे मैं पहली बार कोई क्रिकेट वर्ल्ड-कप देख रहा था। अगर मैं इसे अपने क्रिकेट की दुनिया की Read more…

Bhuvneshwar Kumar Said :Sachin को out करना हमेशा याद रहेगा: भुवनेश्वर कुमार

सचिन तेंडूलकर को आऊट करने का सपना तो हर गेंदबाज़ देखता हैं पर उन्हे जीरो पर आउट करने का आइडिया हर गेंदबाज के मन मे नही आता है. कुछ ही ऐसे गेंदबाज हैं जिन्होने यह अब तक यह कारनामा किया Read more…

Legends of Indian Cricket:Sachin Dravid Ganguly Kumble | कुछ इनसे भी सिखिये

  “ खेलोगे कुदोगे बनोगे खराब,पढोगे लिखोगे बनोगे नवाब “ इस लाईन को मैंने बचपन मे कई बार दुरदर्शन पर एक विज्ञापन मे हमेशा सुनता था. अगर कुछ साल पिछे जाऊ तो लगभग पूरे भारत के लोग इस बात को Read more…

Ajinkya Rahane,The Last Warrior | द्रविड के स्कूल का आखरी स्टूडेंट

   रहाणे कभी उस तरह के बल्लेबाज़ नही रहे जो आते ही ताबड्तोड रन बनाने लगे। लेकिन वो हमेशा से ईनिंग को बिल्ड करते है और टीम को एक ऐसी पोजिशन मे पहुचाते है जहा से टीम के बडे हिटर Read more…

Hindi Poetry on Life

Hindi Poetry on Life,This poetry tells about different thoughts and mindset of Life during my writing. बहुत दिन हुए कुछ लिखा जाए,फिर सोचा कुछ देर रुका जाए , ख्वाहिशो को आसमान दिया जाए ,उलझनों को विराम दिया जाए कलम भी Read more…

Article on Life | अंत ही आरंभ है

मॉ की गोद मे जब मे सिसकिया लेकर रो रहा था, आंखो मे आंसू कम आवाज़ मे ज़ोर ज्यादा था । तभी अचानक एक खिलौने ने मेरी आवाज़ को एक मुस्कुराहट मे बदल दिया और अगले पल मे वो खिलौना Read more…

Indori Poha Recipe | तिरभिन्नाट पोहा-सख्त लौंडा

Indori Poha Receipe in My Style   रितिक – “ भिया राम , और का थे इत्ते दिन से दिख नी रिये थे “ । पप्पू भिया- “ अरे रितिक यार क्या बताउ अपन यार दिल्ली चले गे थे “। Read more…

Hindi Poetry | खामखा ही निकल जाता हूं

खामखा ही निकल जाता हूं, खामखा ही निकल गया था, भीड़ में अपनी पहचान बनाने , चंद कागज़ के टुकड़े जेबो में भरने। लड़ाई मेरी खुद से ही थी, दुसरो को कुछ दिखाने, अपनो से दूर आ गया हूं खामखा Read more…

Age is just a Number for Nehraji | हमारे अपने बिंदास नेहराजी

क्रिकेट के खेल मे कई उतार चढाव होते है और इसिलिये इसे अनिश्चित्ताओ का खेल कहा जाता है । भारतीय क्रिकेट मे कई एक से बढकर महान खिलाडी आये और उन खिलाडीयो के शुरुवाती दौर से लेकर उनके खेल के Read more…

India Vs Australia Odi | तिरभिन्नाट पोहा

“यार उमेश बोत दिन हुये ये पप्पू भिया नी दिख रे है “ –रितिक ने कहा । “ हा यार मैं भी काम के चक्कर मे उधर जा नी पा रिया हू ने फिर शाम को पानी आ जाता है Read more…

Follow us on Social Media