Chirag Ki Kalam ( चिराग की कलम )

जिंदगी का नशा ही काफी है ……

Poems

Poetry For Lover | मेरे महबूब

  वो लटे तेरे बालो की    कुछ कहती वो निगाहे तेरी     होठ तेरे सुर्ख लाल    करते हैं कमाल        वो चुलबुला अंदाज़    वो मीठी सी आवाज़     जब जब देखता हूँ तेरी Read more…

Poetry For Moon | गुजारिश इतनी सी ….

ऐ चाँद आज धीरे चल, चाँदनी के साथ तू भी मचल  आज तू तारो को भी रोक ले , मदहोश हो जा तू भी मोहब्बत के नशे में    ऐ चाँद आज अमावस तो नहीं हैं  फिर भी तू कही Read more…

Love Proposal | दो पल

    दो पल जो हमारे साथ हो जाते ,   जिंदगी की कहानी कुछ और ही होती ,   तुम्हारी हाँ हो जाती और,   उससे इस चातक की प्यास बुझ जाती.            मुश्किल से Read more…

Friendship Poem | दोस्ती एक प्यारा रिश्ता

एक दिन मेरे खुदा ने मुझसे पूछा ,क्या हैं ये दोस्ती ,क्यो बनाता हैं तू दोस्त ,ऐसा क्या हैं इस रिश्ते मैं ,जो नही हैं लहू के रिश्ते में । मैंने खुदा से कहा ,एक भरोसा हैं दोस्ती ,एक विश्वास Read more…

Memories Of Love | फिर तेरी याद आयी

  भीनी भीनी सी मिट्टी की महक आयी   ओस की बूंदों से पत्तो पर चमक आयी    पीछे मुड़कर जब देखा मैंने    तो याद तेरी फिर आयी      अँधेरे  को दूर कर सूरज की रोशनी आयी    Read more…

Love Poem In Hindi | चाहत

  बागो की कच्ची कलियों की महक    तेरी चूडियो की खनक    वो धुप में बारिश का आना    वो चाँद का बदलो में छुप जाना      पौ  फटते तेरी यादो में खो जाना    सपनों में भी Read more…

Lalu Prasad Yadav | लालूजी

  एक दिन लालूजी बोले राबड़ी से,   चलो कर आये हम लन्दन की सैर ,   क्यों न बनाये कुछ दिन लन्दन में अपना बसेर.     (उस पर राबड़ी जी बोली के)   लन्दन-वंदन की सैर छोडिये,   पहले Read more…

Follow us on Social Media