Posts

Showing posts from 2019

दो दिन की छुट्टी

Image
“वर्मा   जी दो दिन से दिखाई नही दे रहे है“ –थोडा सा परेशान होते हुये शर्मा जी ने किराना दुकान के मालिक महेश से पूछा । “ हा शर्मा जी दो दिन से दुकान पर भी नही आये , दो दिन बाद राखी भी है “ –दुकानदार ने वर्मा जी के ना आने को अपने 1000रुपये के   नुकसान   का सोचकर बोला ।   शर्मा जी – “ हा मैं इसिलिये आज आ गया   और कल तो आराम ही कर रहा था , समझ मे नही आ रहा था के क्या करू ? “ “अरे शर्मा जी आप भी ना अरे दो दिन की छुट्टी और ले लो , ने निकल जाओ कही घुमने “ – महेश ने कहा और अपनी मूंछ पर ये सोचकर ताव दिया के अगर वो ये बात शर्मा जी को नही बताता तो शायद शर्मा जी के जीवन की बहुत ही खास   छुट्टीया बर्बाद हो जाती   । तभी दूर से अपने जाने –पह्चाने झोले   को लेकर वर्मा जी आते हुये दिखे । वर्मा जी के के पास वैसे कई झोले थे पर हर झोला एक से   एक था ।   उनके हर झोले पर किसी ना किसी   स्वतंत्रा   सेनानी की तस्वीर   होती थी   । “ अरे वर्मा जी कहा थे दो दिन से , हर रविवार   की तरह   कल आप हम लोगो की नाश्ता   पार्टी मे भी नही आये “-शर्मा जी   ने ऐसे पूछा जैसे देर रात आये अपने बेटे से पुछते

Get Back To Writing After A Long Break

Image
जिंदगी मे हमारे पास अक्सर दो रास्ते होते है । एक  जिस पर हम चल रहे है  और एक जिस पर हम  चलना चाहते है । दोनो अक्सर हमे तब मिल जाते है जब एक रास्ते की मंजिल काफी करीब होती है । ऐसा मैंने तो कई बार महसूस किया है । कई बार वो रास्ता जिस पर मैं चल रहा हू उस रास्ते के पडाव और लोग मुझे उस रास्ते से दूर करते है जिस पर मैं चलना चाहता हू । लिखने का शौक काफी वक्त पहले  लगा और तब से अब तक बहुत कुछ लिखा है । वैसे शुरुवात मे ये सिर्फ एक तरीका था कुछ अलग करने का क्योंकी इंजिनियरिंग ने कुछ अलग करने का कीडा लगा दिया था । खैर तब शायद इंजिनियर्स  का  लेखक बनने  का दौर शुरु हुआ था । चेतन भगत हम जैसे लेखको के लिये एक वो फोटो फ्रेम थे जिसमे हम जैसे लेखक अपने को देखना  चाहते थे । खैर इसी दौर मे कई बार हुआ जब ब्लाग पर बहुत कम लिखना हुआ । आप माने या ना माने मैंने अब तक 4 ब्लाग बनाये है और किसी ना किसी कारण से डीलीट  भी कर दिये ।  परंतु हर ब्लाग से एक नयी बात सिखी है जैसे हर सेमेस्टर मे एक ना एक सब्जेक्ट  और किस्से सिखाते  थे ।  ये मेरा पाचंवा ब्लाग है और अब तक जो भी हर ब्लाग ने सिखाया मैंने इस पर उसे

Sachin Tendulkar Centuries

Image
सचिन बस नाम ही काफी हैं - भाग-2 आस्ट्रेलिया के विकटो पर तेज उछ्लती गेंदो का सामना करना ही हिम्मत का काम होता है और अगर मर्व ह्यूज और क्रेग मैकडेरमौट जैसे गेंदबाज जब गेंदबाजी कर रहे हो तो बैट्समेन  की हिम्मत मे कमी आना स्वाभाविक हैं | सर डॉन ब्रेडमैन की जमीन पर सचिन ने पहली बार कदम रखा था और आस्ट्रेलियाई दर्शको ने देखा एशिया का शेर जो विश्व क्रिकेट का नया डॉन बनने की राह पर चल पडा था| वैसे तो अपने पहले  टेस्ट  शतक के बाद आस्ट्रेलिया के क्रिकेट के सबसे पुराने opposition ने उन्हे होशियार रहने  के लिये  कह दिया  होगा  और उन्होने  इसकी  तैय्यारी  भी  की होगी  । Third Test Between India and Australia at Sydney 2 जनवरी 1992 को भारत सीरिज का अपना तीसरा टेस्ट खेलने Sydney Cricket Ground पर पहुचा | पहले मैच मे भारत  को 10 विकेट और दुसरे  मैच  मे  8 विकेट से आस्ट्रेलिया  ने हरा  दिया  था | भारत ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था| आस्ट्रेलिया की पहली पारी 313 रन पर समाप्त हुई| जिसमे डेविड बून के नाट आऊट 129 रन भी शामिल थे| जवाब मे भारत के दो विकेट 79 पर गिर गये थे| उसके बाद वेंगसर

Hindi Short Story Writing

Image
धुआ ….ना जाने किस ओर ले जाये Short Story Writing हर कश मे धुआ उड रहा था और हर पल मे उसे ये अहसास हो रहा था के उसने जिंदगी मे जो भी खोया वो अब पाना आसान नही है.कहते है के गुजरा वक्त वापस नही आता. तभी उसकी नजरे जो चिलम के नशे मे डूबी हुई थी.उठी और एक व्यक्ति पर टीक गई..मानो जैसे खराब घडी की सुई हो. पर खराब घडी भी दिन मे 2 बार सही समय बताती है.शायद ये सही समय है...वो व्यक्ति कुछ वक्त पहले उसी की तरह बैठकर चिलम से इश्क लडाता था.उसी ने तो इसकी दोस्ती इस मुई चिलम से करवाई थी.परंतु पिछले  कुछ महीनो से वो नजर नही आ रहा था. अचानक उसके कानो मे आवाज़ आयी..."भागो  पुलिस आई है." इस आवाज़ को कानो से दिमाग तक पहुचने मे कुछ वक्त लगा और इतनी देर मे उसके हाथो मे बेडिया बंध चुकी थी. रास्ते मे सब लोग पुलिस जीप मे बात कर रहे थे के अपने बाप के मरने के बाद इसने ये सब छोडकर अपनी बची हुई पढाई की और आज इंस्पेकटर बन चुका  है. ये सब सुनकर उसका दिमाग चकरा गया और उसे याद आया के वो आज सुबह अपने बाप के लिये दवाई लेने  निकला  था. If you like my blog , subscribe my blog so that you will get all the new post d

How to do SEO in Hindi

Image
After reading this post you will be able to do basic SEO of your Hindi Blog. In Today's world, Online Money Making is one of that things which everyone is chasing. Everyone wants to earn money by just type some article, stories, news, videos and other digital marketing content. But, it is not a piece of cake to earn money online especially by Google Adsense. To get huge traffic on your blog or website you need to learn some key aspects of SEO. There is a huge number of websites are available in the internet world to learn SEO. But, what if your content is not in English or what if you are writing in Hindi. Then it is not easy to do SEO of your post and pages. In this article, you will get to know some basic tips to do SEO for your posts written in Hindi. We will be understanding this tutorial "How to do SEO in Hindi"  step by step:- First of all, you need to install a plugin which will help you in doing SEO. In this post, I will be guiding you about the Yoast SEO Plugin

तिरिभिन्नाट पोहा- पोहे-जलेबी का उधार | Poha Jalebi

Image
 भिया राम  –रितिक  ने दूर से आते उमेश को देखकर कहा ।   जय श्री राम रितिक और कई चाली रियो है , तू दिखियो नी यार घणा दन थी ।  हा यार वो क्या है नी के अपना वो धंधा बंद हो गया था नी ने फिर अपने कने  पईसे आने वाले थे विदेश से वो भी नी आये , तो वो कालू है नी उसका पोहे जलेबी का उधार भोत हो गिया था । बस इसिच लिये अपन जो है नी अंडर ग्राऊंड हो गे थे । तो असो थो म्हारे लागयो के तू फेर कणी छोरी ने लेके भागी गियो है , पिछली बार तू ऊ पडोस के मोह्ल्ला की छोरी के भागी गयो ने फिर कई दन तक नी दिखियो थो । अरे यार उमेश भिया तुम भी ना मजे मत लिया करो , वो तो वो लडकी अपने पे फिदा थी ने फिर अपन नी भागे उसको लेके वो पप्पू भिया ने जबरदस्ती  बांध दी अपने गले ।  केने लगे के इससे इम्प्रेशन बढेगा ने लोग जानेगे फिर के रे थे के चुनाव आ रहे है तो तू फिर पापूलर होगा तो चुनाव भी जीत जायेगा । अपने पप्पू  भिया भी ना यार उमेश कभी कभी पगला जाते है और फिर अब उनकी जरुरत है ने देखो गायब है । एक तो पोहे –जलेबी की तलब है , विदेश से पईसा नी आ रिया है और अपने भिया कही छुप के बैठे होंगे । नी यार कई बात कर रियो है तू , पप्पू भिया त