Sunday, 12 June 2011

90's Childhood | काश वापस आ जाये



 
काश वो दिन फिर आ जाये

 
पेंसिल की नौक फिर टूट जाये 

 
नौक करने के बाद के छिलके को पानी में डुबाये 

 
काश वो दिन फिर आ जाये 

 
 

 
काश वो रबर फिर घूम जाये 

 
टिफिन काश वो फिर घर से 

 
लंच टाइम में पापा देने आये 

 
गेम्स पीरियड का वो इन्तेजार 

 
वापस आ जाये 

 


90's Childhood
 

 

 

 


 
एनुअल फंक्शन का वो डांस 

 
वो नाटक की तयारी 

 
वो साइकिल की यारी 

 
काश वापस आ जाये 

 
 

 
वो साइकिल का पंचर होना 

 
वो कम्पास में से पेन चोरी होना 

 
वो ड्राइंग का  पीरियड

 
वो मोरल साइंस के पीरियड की नींद

 
वो बुक से क्रिकेट खेलना 

 
काश वापस आ जाये 

 
 

 
 

 
wwf  का वो खुमार 

 
कोई बनता rock,कोई  undertaker तो कोई rikishi 

 
वो होली का हुडदंग 

 
वो संक्रांति की पतंग 

 
हट ...काटा ......हैं  की

 
वो आवाज़ 

 
 

 
काश वापस आ जाये

 
 

 
वो दिन वो बीते हुए लम्हे 

 
आज भी जेहन में हैं मेरे 

 
बस एक वो आवाज़ वापस आ जाये 

 
और यादो को ताज़ा कर जाये 


90's Childhood | 90's Childhood Memories | 90's Childhood Games | Childhood Cartoons | Childhood Movies | Childhood Shows | Childhood Toys | Childhood Tv Shows | Childhood Books      




Virat Kohli Anil Kumble | तिरभिन्नाट पोहा


YouTube 90's Songs